Monthly Magzine
Friday 24 Nov 2017

अक्षर पर्व August   2016 (अकं 203)  की रचनायें

  • कोलकाता यात्रा की उपलब्धि: मदर हाउस की जियारत ( यात्रा वृत्तांत  )
  • By : मेराज अहमद     View in Text Format    |     PDF Format
  • अक्कड़-बक्कड: चमकदार,निरीह-भद्र दुनिया पर व्यंग्य ( समीक्षा  )
  • By : डॉ. रमेश तिवारी     View in Text Format    |     PDF Format
  • शब्द को कालयात्री बनाती कविताएं ( समीक्षा  )
  • By : बी.एल. आच्छा     View in Text Format    |     PDF Format
  • बाबू समझो इशारे: नए शिल्प के धारदार व्यंग्य ( समीक्षा  )
  • By : गुरमीत बेदी     View in Text Format    |     PDF Format
  • मगर तैरना नहीं आया, बहुत बहा हूं ( समीक्षा  )
  • By : कालूलाल कुलमी     View in Text Format    |     PDF Format
  • अमृतलाल नागर जन्मशती समारोह ( समाचार   )
  • By : उर्मिला शुक्ल     View in Text Format    |     PDF Format
  • नहीं ( उपसंहार  )
  • By : सर्वमित्रा सुरजन     View in Text Format    |     PDF Format
  • मई अंक में हरदर्शन सहगल की बात से मैं भी सहमत हूं और शायद अन्य लोग भी सहमत होंगे कि सभी के अपने यथार्थ उनके ज्ञान और अनुभव पर आधारित होते हैं ( पत्र  )
  • By : गंगा प्रसाद बरसैंया     View in Text Format    |     PDF Format
  • अपनी प्रस्तावना में ललित जी हमेशा कुछ नायाब ही कहते रहे हैं, इस अंक की प्रस्तावना में ललित जी ने हिन्दी लेखन से जुड़ी एक महत्वपूर्ण समस्या पर विचार किया है!  ( पत्र  )
  • By : नवनीत कुमार झा     View in Text Format    |     PDF Format
  • माह जून-16 का अंक प्राप्त हुआ। आभार। कट्टरता, आतंकवाद, असहिष्णुता, वैचारिक स्वतंत्रता और बुद्दिजीवियों की भूमिका पर आपने दस प्रश्न तैयार कर देश के विद्वान विचारको-लेखकों के मन की बात ( पत्र  )
  • By : गोवर्धन यादव।     View in Text Format    |     PDF Format