Monthly Magzine
Tuesday 21 Nov 2017

अक्षर पर्व February   2016 (अकं 197)  की रचनायें

  • किसी पत्रिका का पढऩा तभी सार्थक लगता है जब उसमें प्रकाशित कोई रचना या लेख मन को छू ले और वह देर तक गूंजता रहे। ( पत्र  )
  • By : डॉ. गंगा प्रसाद बरसैंया     View in Text Format    |     PDF Format
  • जुलाई अंक की चारों कहानियां, विशेषकर \'जिदÓ बहुत पठनीय है, \'जिदÓ में कथाकार वीरा चतुर्वेदी ने एक बहुत ही सामान्य विषय को यूनिवर्सल अपील के क्लासिकल स्तर तक उठा दिया है, ( पत्र  )
  • By : पूरनचंद बाली \'नमन\',     View in Text Format    |     PDF Format
  • भीष्म साहनी एक यथार्थवादी रचनाकार हैं।  ( पत्र  )
  • By : उत्तिमा केशरी     View in Text Format    |     PDF Format