Monthly Magzine
Saturday 18 Nov 2017

अक्षर पर्व August   2015 (अकं 191)  की रचनायें

  • स्वातंत्र्योत्तर हिन्दी कविता : दशा और दिशा। जैसा कि शीर्षक से जाहिर है, यह विशद विवेचन का विषय है, जिसे एक व्याख्यान या आलेख में साधना लगभग असंभव है। यदि विषय के साथ न्याय करना है तो इस हेतु एक सुचिंतित, सुदीर्घ ग्रंथ लिखने की आवश्यकता होगी। ( प्रस्तावना  )
  • By : ललित सुरजन     View in Text Format    |     PDF Format
  • सादगी और विनम्रता की प्रतिमूर्ति ( जन्मशती वर्ष  )
  • By : श्याम कश्यप     View in Text Format    |     PDF Format
  • भीष्म साहनी की याद में ( जन्मशती वर्ष  )
  • By : डॉ. सुधेश     View in Text Format    |     PDF Format
  • भीष्म साहनी : नई कहानी के मुहावरे का अतिक्रमण ( जन्मशती वर्ष  )
  • By : डॉ. वेदप्रकाश अमिताभ     View in Text Format    |     PDF Format
  • यादें : मंचीय लोकप्रिय कविता की ( यादें  )
  • By : विजय बहादुर सिंह     View in Text Format    |     PDF Format
  • क्या \'निराला\' हिन्दूवादी कवि थे? ( विचार-लेख  )
  • By : राजकुमार कुम्भज     View in Text Format    |     PDF Format
  • मां ( कविता  )
  • By : कुशेश्वर     View in Text Format    |     PDF Format
  • भर खेत बगुला ( कविता  )
  • By : राजकिशोर राजन     View in Text Format    |     PDF Format
  • बनारस ( कविता  )
  • By : तबस्सुम फातिमा     View in Text Format    |     PDF Format
  • एक दरिया में बहता पानी है, जि़ंदगी की यही कहानी है ( गजल  )
  • By : ललित सुरजन     View in Text Format    |     PDF Format