Monthly Magzine
Friday 24 Nov 2017

अक्षर पर्व July   2015 (अकं 190)  की रचनायें

  • आलोचना के चश्मे को बदलना जरुरी है। ( विचार-लेख  )
  • By : राधेश्याम तिवारी     View in Text Format    |     PDF Format
  • विजयदेव नारायण साही : अर्थ का आलोक ( स्मरण  )
  • By : परिचय दास     View in Text Format    |     PDF Format
  • स्मृतियों में संवाद करती कविताएं ( समीक्षा  )
  • By : डॉ. अजय अनुरागी     View in Text Format    |     PDF Format
  • कहानियों की भीड़ से अलग कहानियां ( समीक्षा  )
  • By : पंकज सुबीर     View in Text Format    |     PDF Format
  • लाल सिंह दिल की दुनिया ( समीक्षा  )
  • By : कालूलाल कुलमी     View in Text Format    |     PDF Format
  • भीष्म साहनी स्मृति कहानी कार्यशाला ( समाचार   )
  • By : अन्य     View in Text Format    |     PDF Format
  • नागार्जुन का कविकर्म- चर्चा में योगदान ( प्रतिक्रिया   )
  • By : अजित कुमार     View in Text Format    |     PDF Format
  • बात बोलेगी, हम नहीं ( उपसंहार  )
  • By : सर्वमित्रा सुरजन     View in Text Format    |     PDF Format
  • \'अक्षर पर्वÓ बराबर पढ़ती हूं। जिनमें संपादकीय एवं आपका स्तंभ \'उपसंहारÓ मनोयोग से। वैचारिक स्फुरण का विस्तार होता है।  ( पत्र  )
  • By : मंजुला उपाध्याय \'मंजुल\'     View in Text Format    |     PDF Format
  • इतनी प्रचण्ड गर्मी मन और तन दोनों व्याकुल और इसी व्याकुलता के कारण जब मौसम का मिजाज कुछ नरम पड़ गया है ( पत्र  )
  • By : नवनीत कुमार झा     View in Text Format    |     PDF Format