Monthly Magzine
Tuesday 18 Sep 2018

पत्र

  • जुलाई अंक में कांतिकुमार जैन के संस्मरण से जानकारी प्राप्त हुई कि तथाकथित भगवान का दर्जा पाने वाले ओशो रजनीश, दरअसल चंद्रमोहन जैन थे और विद्यार्थी जीवन से ही वे बड़े प्रतिभासंपन्न व तेजसवी थे।
  • September  2016   ( अंक204 )
    By : डॉ.सेराज खान बातिश     View in Text Format    |     PDF Format
  • सलमान खान के बयान पर सर्वमित्राजी की बात पर मैं भी हसताक्षर कर एक और बार अपना विरोध शामिल करना चाहती हूं।
  • September  2016   ( अंक204 )
    By : मंदाकिनी श्रीवास्तव     View in Text Format    |     PDF Format
  • अक्षर पर्व का जून अंक वैश्विक आतंकवाद और धर्म के नाम पर की जा रही हिंसा पर एक समग्र विश्लेषण से परिपूर्ण विशिष्ट संग्रहणीय अंक है।
  • September  2016   ( अंक204 )
    By : सुसंस्कृति परिहार     View in Text Format    |     PDF Format
  • ‘अक्षर पर्व’ के जुलाई-16 अंक में तुम्हारी प्रस्तावना में डॉ. चन्द्रकांत देवताले की काव्य-पुस्तक की समीक्षा पढक़र मुझे तुम्हारी उस समीक्षा की याद आ गई जो तुमने डॉ. मलय की काव्य-कृति के बारे में लिखा था।
  • September  2016   ( अंक204 )
    By : डॉ. गंगा प्रसाद बरसैंया     View in Text Format    |     PDF Format
  • जुलाई अंक की प्रस्तावना में ललित जी ने वरिष्ठ कवि चंद्रकांत देवताले के काव्य संग्रह की सुष्ठु एवं सम्यक समीक्षा की है।
  • September  2016   ( अंक204 )
    By : चंद्रसेन विराट     View in Text Format    |     PDF Format
  • जुलाई 2016 अक्षर पर्व प्राप्त हुआ आभार। आज हिंदी क्षेत्र में यूँ तो अनेक पत्रिकाएं प्रकाशित हो रही हैं।
  • September  2016   ( अंक204 )
    By : श्याम सखा श्याम     View in Text Format    |     PDF Format
  • ‘अक्षर पर्व’ का अगस्त-16 अंक ‘आजादी के सुर’ विशेषांक मिला।
  • October  2016   ( अंक205 )
    By : चंद्रसेन विराट     View in Text Format    |     PDF Format
  • रचना वार्षिकी में अधिकांश पढ़े का सार है कि कुछ लोग माक्र्सवाद को इसलिए बुरा मानते हैं
  • October  2016   ( अंक205 )
    By : निशांत     View in Text Format    |     PDF Format
  • ‘अक्षर पर्व’ मई 2016 का अंक प्राप्त हुआ। ललित सुरजन की प्रस्तावना सदैव बहुत जमती है।
  • October  2016   ( अंक205 )
    By : शंकरमोहन झा     View in Text Format    |     PDF Format
  • ‘अक्षर पर्व’ का मई 2016 का अंक नवीन स्तरीय सामग्री से समृद्ध है।
  • October  2016   ( अंक205 )
    By : प्रो. भगवानदास जैन     View in Text Format    |     PDF Format