Monthly Magzine
Wednesday 22 Nov 2017

गजल

  • मुझको उलफत के लिए, कितना सताया जाएगा
  • August  2015   ( अंक191 )
    By : पूर्णेन्दु कुमार सिंह सिंहपुर रोड,     View in Text Format    |     PDF Format
  • आईना है
  • September  2015   ( अंक192 )
    By : नरेन्द्र दीपक     View in Text Format    |     PDF Format
  • लोग कहते, अकेला हूं मैं,
  • October  2015   ( अंक193 )
    By : साहिल     View in Text Format    |     PDF Format
  • लोग कहते, अकेला हूं मैं,
  • March  2016   ( अंक193 )
    By : साहिल     View in Text Format    |     PDF Format
  • चांद पर जाना है जिनको, चांद पर बाशौक जाएं।
  • January  2016   ( अंक196 )
    By : जीवन यदु     View in Text Format    |     PDF Format
  • दरपन में जैसा दिखता है वैसा वह मासूम नहीं है,
  • January  2016   ( अंक196 )
    By : डॉ. परशुराम शुक्ल     View in Text Format    |     PDF Format
  • कानों को उजियारा कैसे भाएगा
  • February  2016   ( अंक197 )
    By : कुमार विनोद     View in Text Format    |     PDF Format
  • इक खिलौने सा वो उठायेगा,तोड़ कर फिर मुझे बनायेगा
  • March  2016   ( अंक198 )
    By : प्रेम रंजन अनिमेष     View in Text Format    |     PDF Format
  • गजल
  • August  2016   ( अंक203 )
    By : कुंदन सिंह सजल     View in Text Format    |     PDF Format
  • दर्द पीड़ा है मगर इजहार मत कर,
  • October  2016   ( अंक205 )
    By : सेवाराम गुप्ता ‘प्रत्यूष’     View in Text Format    |     PDF Format