Monthly Magzine
Wednesday 22 Nov 2017

नवनीत कुमार झा, हरिहरपुर की रचनायें

  • जनवरी अंक में ललित सुरजन जी की प्रस्तावना हमेशा की तरह ही बेहतरीन है ! हिन्दी कविता में गज़़ल विधा आज एक स्थापित और विशिष्ट विधा है !
  • February  2016   ( अंक197 )
    By :     View in Text Format    |     PDF Format
  • कैलाश वनवासी के आलेख ; कहानी का गंतव्य में विचारों की स्वतंत्रता के दुश्मनों, नव आर्थिक साम्राज्यवाद और फासिस्ट संस्कृति द्वारा किए जा रहे
  • March  2016   ( अंक198 )
    By :     View in Text Format    |     PDF Format
  • अनुपम मिश्र के वक्तव्य ( जीवन का अर्थ : अर्थमय जीवन ) को देखा तो सहज ही ये इच्छा हुई
  • May  2016   ( अंक200 )
    By :     View in Text Format    |     PDF Format