Monthly Magzine
Friday 24 Nov 2017

डॉ. गंगाप्रसाद बरसैया की रचनायें

  • बहुत दिनों के बाद एक पूरा विशेषांक आदि से अंत तक पढ़ा। इसलिए कि \'\'भीष्म विशेषांक बहुत अच्छा निकला है। उसका प्रत्येक लेख सटीक, सार्थक और तथ्यपरक है। भीष्म जी सही मायने में बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे,
  • September  2015   ( अंक192 )
    By :     View in Text Format    |     PDF Format