Monthly Magzine
Thursday 26 Apr 2018

फरवरी अंक की प्रस्तावना में ललितजी ने 2017 के अंत तक तीन महाद्वीपों के तीन बड़े देशों में घटित विस्मयकारी घटनाओं के सूक्ष्म निरीक्षण व विश्लेषण द्वारा समूचे वैश्विक परिदृश्य को हमारे सम्मुख प्रस्तुत किया है।

प्रो.भगवानदास जैन, अहमदाबाद 382445

फरवरी अंक की प्रस्तावना में ललितजी ने 2017 के अंत तक तीन महाद्वीपों के तीन बड़े देशों में घटित विस्मयकारी घटनाओं के सूक्ष्म निरीक्षण व विश्लेषण द्वारा समूचे वैश्विक परिदृश्य को हमारे सम्मुख प्रस्तुत किया है। वैश्विक समस्याओं की इतनी गहन और तलस्पर्शी छानबीन करने वाली ललितजी की सूक्ष्म दृष्टि यकीनन काबिलेदाद है। सर्वमित्रादी ने उपसंहार में प्रधानमंत्री मोदी की अवसरवादी सांप्रतिक विचारधारा और महात्मा गांधी की आमजनवादी विकासोन्मुखी विचारधारा के बीच के अंतर और अंतराल को बखूबी सतर्क स्पष्ट किया है। अनुपम कुमारी चौधरी और डा.मनीषा शंखधार के शोध आलेख अच्छे हैं। कहानियां, कविताएं भी समकालीन बोध से अनुप्राणित हैं।