Monthly Magzine
Saturday 18 Nov 2017

युद्ध पर

 

 युद्ध पर नया क्या लिखा जाए
इसमें मरते हैं नौजवान
एक हारता दूसरा जीतता है
कभी-कभी कोई नहीं हारता कोई नहीं जीतता
दोनों कपड़े झाड़ते ख़ाली हाथ लौट जाते हैं

क्या लिखा जाए युद्ध पर
जब हमें लगा कि उस पर सब कुछ
लिखा जा चुका है
उसके न होने के समझ आ चुके थे जब
कितने ही कारण
तभी हुआ एक और युद्ध
पिछले युद्धों से ज़्यादा बचकाना