Monthly Magzine
Tuesday 23 Oct 2018

‘अक्षर पर्व’ मई 2016 का अंक प्राप्त हुआ। ललित सुरजन की प्रस्तावना सदैव बहुत जमती है।

शंकरमोहन झा,

हिन्दी विद्यापीठ, देवधर (झारखंड) 814115
‘अक्षर पर्व’ मई 2016 का अंक प्राप्त हुआ। ललित सुरजन की प्रस्तावना सदैव बहुत जमती है। हम पाठकों की बात वे छूते हैं या किसी महत्वपूर्ण पुस्तक, पत्रिका के विशेषांक आदि से हमें परिचित कराते हैं। कविता, कहानी, आलेख, शोध, आलेख, समीक्षा, पुन:पाठ आदि स्तंभ महत्वपूर्ण और स्तरीय सामग्री देते हैं। इस बार ‘नवनीत’ के माध्यम से पुरानी साहित्यिक पत्रिकाओं की चर्चा है और ‘भारतीय डाक : सदियों का सफरनामा’ पर विचार व्यक्त किया गया है।