Monthly Magzine
Monday 20 Nov 2017

वो ही चला मिटाने नामो-निशां हमारा

देवी नागरानी
9 -डी , कॉर्नर व्यू व्यू सोसाईटी , 15 / 33 रोड , बांद्रा , मुम्बई
मो.  9987928358
वो ही चला मिटाने नामो-निशां हमारा
जो आज तक रहा था जाने-जहाँ हमारा
दुश्मन से जा मिला है अब बागबाँ हमारा
सैयाद बन गया है लो राजदाँ हमारा
जालिम के जुल्म  का  भी किससे गिला करें हम
कोई तो आ के सुनता दर्द-ए-निहां हमारा
हर बार क्यों नजर है बर्के-तपाँ कि हम पर
हर बार ही निशाना क्यों आशियाँ हमारा
दुश्मन का भी भरोसा हमने कभी न तोड़ा
बस उस यकीं पे चलता है कारवां हमारा
बहरों की बस्तियों में हम चीखकर करें क्या
चिल्लाना-चीखना सब है रायगाँ हमारा
कुछ पर कटे परिंदे हसरत से कह रहे हैं
‘देवी’ नहीं रहा अब ये आसमाँ हमारा।