Monthly Magzine
Thursday 23 Nov 2017

संस्कृति समाचार


लोकार्पण सह परिचर्चा गोष्ठी का आयोजन
बुजुर्ग समाज पूर्णिया के बैनर तले भोलानाथ आलोक अध्यक्ष बुजुर्ग समाज पूर्णिया के सिपाही टोला आवासीय परिसर में बीत 10 अप्रैल 2016 को कवि द्वय डॉ. सुवंश ठाकुर ‘अकेला’ एवं शिवनारायण शर्मा ‘व्यथित’ की काव्य-कृतियों क्रमश: ‘गहरी स्मृति के दाग’ एवं ‘धूप जब आंगन उतरी’ का लोकार्पण सह परिचर्चा गोष्ठी का आयोजन किया गया जिसकी अध्यक्षता प्रो. ए. हसन दानिश ने की तथा मंच संचालन अवधेश कु. सिंह ने किया। समारोह के मुख्य अतिथि राष्ट्रीय स्तर के सुविख्यात कथाकार चंद्रकिशोर जायसवाल थे।
मुख्य अतिथि चंद्रकिशोर जायसवाल एक स्वस्थ साहित्यत्यिक विमर्श के माध्यम से साहित्य के कुछ अनछुए विषयों पर विस्तार से चर्चा की। अंत में प्रो. ए. हसन दानिश ने अपने अध्यक्षीय भाषण में आज के काव्यात्मक परिदृश्य की चर्चा की और कहा कि रेणु की कर्मभूमि के ये दोनों कवियों की कविताएं यथार्थ की भावभूमि पर टिकी है जो पाठकों से सीधे बात करती दिखाई पड़ती है। इस समारोह में लोकार्पित काव्य-कृतियों के कवि सुवंश ठाकुर ‘अकेला’ एवं शिवनारायण शर्मा ‘व्यथित’ सहित सुरेन्द्र नाथ, केदारनाथ साह, गोविंद कुमार, श्यामलाल पासवान, डॉ. के.के. चौधरी, अनंतलाल यादव, परिमल मित्रा, त्रिलोकेश्वर तरुण, राजू गीरापू, बालकृष्ण कुंवर, ओमप्रकाश पांडेय, नरेश कु. शर्मा, अशोक कु. सिंह एवं स्थानीय समाचार पत्रों, आकाशवाणी तथा टी.वी चैनलों के मीडियाकर्मी भी उपस्थित थे। समारोह के समापन पर धन्यवाद ज्ञापन अशोक कुमार सिंह ने किया।
-नरेश कुमार शर्मा, पूर्णिया