Monthly Magzine
Wednesday 22 Nov 2017

अप्रैल 16 का अंक प्राप्त हुआ। महेंद्र राजा जैन की ध्यानाकर्षक टिप्पणी पढ़ी।

 

डॉ.शंकर मोहन झा, हिंदी विद्यापीठ, देवघर, झारखंड।

अप्रैल 16 का अंक प्राप्त हुआ। महेंद्र राजा जैन की ध्यानाकर्षक टिप्पणी पढ़ी। संपादकीय में सामयिक विवाद पर संतुलित टिप्पणी है। हमारे देश की उदार छवि पर संकीर्ण फतवे दिए जाने से बचने की जरूरत है। कितने तो विषय हैं, जिन पर मीडिया केन्द्रित हो सकती है। कविताओं में वैविध्य खींचता है। सारंग उपाध्याय का संस्मरण इत्मीनान से पढऩा है।