Monthly Magzine
Tuesday 23 Oct 2018

अक्षरपर्व मई की प्रस्तावना में ललितजी ने इंदौर, उज्जैन यात्रा का संक्षिप्त विवरण दिया है।

अक्षरपर्व मई की प्रस्तावना में ललितजी ने इंदौर, उज्जैन यात्रा का संक्षिप्त विवरण दिया है। कविवर चंद्रकांत देवताले, उनकी बेटी, संजय पटेल, गीता सांघी एवं हिमांशुजी का जिक्र आया। अच्छा लगा। आज की गज़़ल में राकेश अचल की गज़़ल अच्छी बन पड़ी है। डा.कृष्ण  भावुक का आलेख बांध गया। क्या कहने? कविवर कुंअर बेचैन का साक्षात्कार वाकई अच्छा है। प्रश्न भी अच्छे। उत्तर सटीक।

चंद्रसेन विराट, इंदौर